निदेशक की कलम से 

प्राणियों की तरह ही संस्थानों का विकास एवं रूपांतरण होना चाहिए । प्रत्येक सफल संस्थान के लिए अनवरत रूपांतरण आवश्यक होता है । विज्ञान के क्षेत्र में तो यह सबसे बड़ी सच्चाई हैं, जहाँ सिद्धा़तों में प्रत्येक कुछ वर्षो के बाद विवर्तनिक परिवर्तन घटित होता है और नए लक्ष्य सामने आ जाते हैं । हमारी यात्रा 1935 में सेंट्रल कलकत्ता के एक छोटे से घर में भारतीय चिकित्सीय अनुसंधान के रूप में प्रारंभ हुई थी । इसके संस्थापक डॉ. जे. सी. राय का लक्ष्य था कि हमारे देश में लगातार बढ़ रही स्वा स्य्और संबंधी समस्याओं का समाधान ढूंढ़ा जाए । उन्होंने महसूस किया कि किसी भी देश की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का उचित समाधान जीवविज्ञान की गहन समझ से ही संभव हो सकता है । उन दिनों जीवविज्ञान एवं औषधि की अधिकांश चीजें रहसयवृत थी़ । हालांकि आणविक जीवविज्ञान में आने वाली क्रांति ने उन स्थितियों में आमूलचूल परिवर्तन कर दिया और जैविक अणुओं की क्रियाओं पर से अवगुंठन हटा दिया, और ऐसे आश्चर्य को उद्धालटित किया जिसे हम जीवन कहते हैं । पिछले अनेक दशकों से आणविक जीवविज्ञान के युग में प्रवेश किया है, जहाँ हम रासायनिक भौतिक सिद्धांतों की दृष्टि से जीवन को समझने का सपना देख सकते हैं । अतः हमें अपने लक्ष्यों को पुनर्परिभाषित करना होगा और नए पथ का अवगाहन करना होगा ।

एक असाधारण दूरदर्शिता के तहत लगभग 25 वर्ष पहले इस संस्थान का नाम भारतीय रासायनिक जीवविज्ञान संस्थान रखा गया, जिस समय इस तरह का नाम न तो प्रचलन में था और न ही सुज्ञात था । नई शताब्दी के प्रत्यूष वेला में, जो जीवविज्ञान की शताब्दी होगी ... भारतीय रासायनिक जीवविज्ञान संस्थान जीवन के रसायन को समझने में अपनी छाप छोड़ने को प्रस्तुत है, जो अंततः जीवन पर छाए रहस्य के आवरणों को हटाने में सक्षम होगा । ये प्रयास निश्चित रूप से राष्ट्र के स्वास्थ्य परिदृश्य पर व्यापक प्रभाव डालेंगे । यह नया वेबसाइट इस नई शताब्दी में हमारे नए मिशन, हमारी नए संकल्पों का प्रतिफलन है।

अशेष शुभकामनाओं के साथ, 



 

 

प्रो. समित चट्टोपाध्‍याय


निदेशक, सीएसआईआर-आईआईसीबी

ईमेल
director@iicb.res.in ; samit@iicb.res.in

एक्‍सटेंशन नं  701

 

 

   

 

श्री आर. एन. दास
संपर्क: rndas@iicb.res.in
एक्‍सटेंशन नं..701

निदेशक के निजि सचिव

श्रीमती मौमिता मजुमदार
संपर्क:m.majumdar78@gmail.com
एक्‍सटेंशन नं..701

वरिष्‍ठ आशुलिपिक

श्री दिनेश महाली
एक्‍सटेंशन नं.827

ग्रुप – सी (एनटी) (यूजी)

 


   © भारतीय रासायनिक जीवविज्ञान संस्थान, कोलकाता     आईआईसीबी - हिंदी इकाई एवं कम्प्यूटर प्रभाग, सीएसआईआर द्वारा डिजाइन और अनुरक्षित